शुभ रात्रि शायरी – खुद में हम कुछ इस

खुद में हम कुछ इस तरह खो जाते हैं; बीती हुई यादों को लेकर रोये जाते हैं; नींद तो आती नहीं है अब रातों में; मगर देख सकें तुमको ख्वाबों में इसलिए सो जाते हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *