शुभ रात्रि शायरी – जब भी इस दिल को

“जब भी इस दिल को आपकी याद आती है; इस दिल ने सच्ची ख़ुशी मिल जाती है; डर लगता है कि कहीं छूट न जाये आपका ये साथ; इस लिए रब से आपको पाने की दुआ मांगी है।
शुभ रात्रि!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…