शुभ रात्रि शायरी – दिल में होंठों पे बस

“दिल में, होंठों पे बस एक ही दुआ रहती है; हर घडी मुझे आप की ही परवाह रहती है; खुदा हर ख़ुशी बख्शे आपको; हर दुआ में यही गुज़ारिश रहती है।
शुभ रात्रि!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…