शुभ रात्रि शायरी – या रब तू अपना जलवा

“या रब तू अपना जलवा दिखा दे; उनकी ज़िंदगी को भी अपने नूर से सज़ा दे; बस इस दिल की यही दुआ है ऐ मालिक; उनके सपनो को तू हक़ीक़त बना दे।
शुभ रात्रि!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *