शुभ रात्रि शायरी – हर सपना ख़ुशी पाने के

“हर सपना ख़ुशी पाने के लिए पूरा नहीं होता; कोई किसी के बिना अधूरा नहीं होता; जो चाँद रौशन करता है रात भर को; हर रात वो भी पूरा नहीं होता।
शुभ रात्रि!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *