शुभ रात्रि शायरी – हो गयी है रात निकल

“हो गयी है रात निकल आये हैं सितारे; सो गए हैं पंछी, शांत हैं सब नज़ारे; सो जाइए आप भी इस महकती रात में; देख रहें हैं राह आपकी सपने प्यारे-प्यारे।
शुभ रात्रि!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…