सुप्रभात शायरी – ऐ सूरज मेरे अपनों को

“ऐ सूरज मेरे अपनों को यह पैगाम देना; खुशियों का दिन हँसी की शाम देना; जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को; तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।
सुप्रभात!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *