सुप्रभात शायरी – हर फूल आपको एक नया

“हर फूल आपको एक नया अरमान दे; सूरज की हर किरण आपको सलाम दे; निकले कभी जो एक आँसू भी आपका, तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे।
सुप्रभात।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *