सुप्रभात शायरी – हर सुबह तेरी दुनिया में

“हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे; रब तेरे ग़म को तेरी ख़ुशी कर दे; जब भी टूटने लगें तेरी साँसें; खुदा तुझमे शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे।
सुप्रभात!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *