२ लाइन शायरी – ज़िंदगी की उम्र कुछ कम हो

ज़िंदगी की उम्र कुछ कम हो रही थी
वो साँसे दे गयी फिर से मेरे दर्द को !!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *