❤कितना सुकून मिलता है उस जगह पर बैठ कर रोने से, जिस जगह पर अल्लाह के सिवा और कोई ना हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *