❤मौसम गए सुकून गया ज़िन्दगी गई, दीवानगी की आग में क्या-क्या गया न पूछ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *