Month: February 2017

Religious Shayari – ना कोई राह़ आसान चाहिए ना

ना कोई राह़ आसान चाहिए,,,
ना ही हमें कोई पहचान चाहिए,,,
एक चीज माँगते रोज भगवान से,,
सब लोगों के चेहरे पे हर पल,,,
प्यारी सी मुस्कान चाहिये !!!

Religious Shayari – ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं ऐं

ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं ऐं श्री पद्मावती देव्यै नमः
तूम कृपालु, मैं कमजोर माते!
तेरे जोर पे में इतराता हूँ
तेरी कृपा से माते!
मैं अंधेरो में भी आगे बढ़ता जाता हूँ
जय पारस जय माँ पद्मावती..

Religious Shayari – कोई सलीका है आरज़ू का

कोई सलीका है आरज़ू का, ना बंदगी मेरी बंदगी है,
यह सब तुम्हारा करम हे श्रीनाथ की बात अब तक बनी हुई है
II जय श्री कृष्णा II


loading...