Alwida Shayari – मिलता था हर रंग जिन्दगी

मिलता था हर रंग जिन्दगी का जिसमें..
वो आज अलविदा जाने क्यो कह रहा है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…