Berukhi Shayari – कभी ऐसी भी बेरुखी देखी

कभी ऐसी भी बेरुखी देखी है तुमने

”एय दिल“

लोग आप से तुम,
तुम से जान,
और जान से अनजान हो जाते हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *