Berukhi Shayari – ये तेरी बेरुख़ी की हम

ये तेरी बेरुख़ी की हम से आदत ख़ास टूटेगी,
कोई दरिया न ये समझे कि मेरी प्यास टूटेगी,
तेरे वादे का तू जाने मेरा वो ही इरादा है,
कि जिस दिन साँस टूटेगी उसी दिन आस टूटेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *