Berukhi Shayari – रिश्तों में इतनी बेरुख़ी भी

रिश्तों में इतनी बेरुख़ी भी अच्छी नहीं हुज़ूर..
देखना कहीं मनाने वाला ही ना रूठ जाए तुमसे..!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *