Bharosa Shayari – दिल को तिरी चाहत पे

दिल को तिरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है
और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *