Shayari 4 SOUL (SomeOne U Love)

Hindi Romantic And Sad Sher O Shayari Collection

Category: Ajnabi Shayari

Ajnabi Shayari – मंजिल का नाराज होना भी

मंजिल का नाराज होना भी जायज था…,
हम भी तो अजनबी राहों से दिल लगा बैठे थे…!


Ajnabi Shayari – सदियों बाद उस अजनबी से

सदियों बाद उस अजनबी से मुलाक़ात हुई,
आँखों ही आँखों में चाहत की हर बात हुई,

जाते हुए उसने देखा मुझे चाहत भरी निगाहों से,
मेरी भी आँखों से आंसुओं की बरसात हुई.

Ajnabi Shayari – अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा

अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी न सकूँ
ऐसे जिद्दी हैं परिंदे के उड़ा भी न सकूँ

फूँक डालूँगा किसी रोज ये दिल की दुनिया
ये तेरा खत तो नहीं है कि जला भी न सकूँ

Page 1 of 212

Shayari 4 SOUL (SomeOne U Love) © 2016