Category: Jaagna Shayari

Jaagna Shayari – तन्हाइयों में मुस्कुराना इश्क़ है

तन्हाइयों में मुस्कुराना इश्क़ है,
एक बात को सब से छुपाना इश्क़ है,
यूँ तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते-सोते जागना और, जागते-जागते सोना ही इश्क़ है।

Jaagna Shayari – मुझे भी अब नींद की

मुझे भी अब नींद की तलब नहीं रही,
अब रातों को जागना अच्छा लगता है,
मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं,
मगर उसे खुदा से माँगना अच्छा लगता है.

४ लाइन हिंदी शायरी – तुज़से दोस्ती करने का हिसाब ना

तुज़से दोस्ती करने का हिसाब ना आया,
मेरे किसी भी सवाल का जवाब ना आया,
हम तो जागते रहे तेरे ही ख़यालो मे,
और तुझे सो कर भी हमारा ख्वाब ना आया..!!!