Category: Paraya Shayari

Paraya Shayari – ज़िंदगी जीने को एक यहाँ

ज़िंदगी जीने को एक यहाँ ख्वाब मिलता है;
यहाँ हर सवाल का झूठा जवाब मिलता है;
किसे समझे अपना किसे पराया;
यहाँ हर चेहरे पे एक नकाब मिलता है।

Paraya Shayari – वक्त से ज्यादा ज़िन्दगी में कोई

वक्त से ज्यादा ज़िन्दगी में,
कोई भी अपना और पराया नहीं होता,
अगर वक्त अपना है तो सभी अपने होते हैं,
और अगर वक्त ही पराया हो तो,
अपने भी पराये हो जाते हैं..


loading...