December Shayari – कौन कहता है वक्त मरता

कौन कहता है वक्त मरता नहीं,
हमने सालों को ख़त्म होते देखा है दिसम्बर में!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…