Didaar Shayari – जिद उसकी थी चाँद का

जिद उसकी थी चाँद का दीदार करने की,
होना क्या था मैने उसके सामने आईना रख दिया ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…