Dillagi Shayari – नसीम-ए-सुबह गुलशन में गुलों से

नसीम-ए-सुबह गुलशन में गुलों से खेलती होगी,
किसी की आखरी हिचकी किसी की दिल्लगी होगी !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…