Dillagi Shayari – बेहतर तो है यही के

बेहतर तो है यही के न दुनिया से दिल लगे,
पर क्या करें जो काम न बे-दिल्लगी चले !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…