Faasla Shayari – सबका ख़ुशी से फासला एक

सबका ख़ुशी से फासला एक क़दम है,
हर घर में बस एक ही कमरा कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…