Fitrat Shayari – मेरी फितरत ही कुछ ऐसी

मेरी फितरत ही कुछ ऐसी है कि,
दर्द सहने का लुत्फ़ उठाता हु मैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…