Gair Shayari – जब तक तुम्हें न देखूं! दिल

जब तक तुम्हें न देखूं!
दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं!
तो फिर सहा नहीं जाता!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…