Gair Shayari – तुम्हें अपना कहने की तमन्ना

तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में…
लबों तक आते आते तुम ग़ैर हो गए !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…