Guroor Shayari – अजीब लोगों का बसेरा है

अजीब लोगों का बसेरा है तेरे शहर में,
ग़ुरूर में मिट जाते हैं मगर याद नहीं करते..!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *