Hasrat Shayari – वो मेरी हसरत थी मैं

वो मेरी हसरत थी मैं उसकी जरुरत था ..
फिर क्या था, जरुरत पूरी हो गई हसरत अधूरी रह गई…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…