Hausla Shayari – रख हौसला वो मंज़र भी

रख हौसला, वो मंज़र भी आएगा
प्यासे के पास चल के, समंदर भी आयेंगा

थक कर ना बैठ, ए मंजिल के मुसाफिर
मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *