Hichki Shayari – महक होती तो तितलियाँ जरूर

महक होती तो तितलियाँ जरूर आती;
कोई रोता तो सिसकियाँ जरूर आती;
कहने को तो लोग मुझे बहुत याद करते हैं;
मगर याद करते तो हिचकियाँ जरूर आती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…