Hindi Sad Shayari – बात मुक्कदर पे आ के

बात मुक्कदर पे आ के रुकी है वर्ना,

कोई कसर तो न छोड़ी थी तुझे चाहने में ।

loading…