Hindi shayari – हज़ार शिकवे…कई

हज़ार शिकवे…कई दिनों की बेरुखी…,
बस उनकी एक हँसी…और सब रफा-दफा।