Ibadat Shayari – इश्क़ महसूस करना भी इबादत

इश्क़ महसूस करना भी इबादत से कम नहीं,
ज़रा बताइये, छू कर खुदा को किसी ने देखा हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…