Imtehaan Shayari – ज़िन्दगी तो बस इम्तहान ले रही

ज़िन्दगी तो बस इम्तहान ले रही थी
हम कमबख्त उसे मजाक समझ बेठे।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…