Jaan Shayari – जीते थे यूँ तो पहले

जीते थे यूँ तो पहले भो हम जां पे खेल कर
बाजी है अब ये जान से बढ़ कर लगी हुई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…