Jazbaat Shayari – दिल के जज्बातों की हिफाजत

दिल के जज्बातों की हिफाजत करें भी तो कैसे….?
महफूज तो धड़कन भी नहीं होती सीने में….!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…