Kamyaabi Shayari – मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर

मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर मत होना,
छू लो कदम कामयाबी के लेकिन कभी अपनों से दूर मत होना..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…