Kashmakash Shayari – बड़ी कशमकश में हूँ बच्चो

बड़ी कशमकश में हूँ बच्चो को क्या तालीम दूँगा,
मुझे सिखाया गया था कुछ और मेरे काम आया कुछ और……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…