Khafa Shayari – काश कोई मिले इस तरह

काश कोई मिले इस तरह के फिर जुद़ा ना हो,
वो समझे मेरे मिज़ाज़ को औऱ कभी खफ़ा ना हो !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…