Khona Shayari – कितना नादान है ये दिल कैसे

कितना नादान है ये दिल,
कैसे समझाऊँ की जिसे तू खोना नही चाहता,
वो तेरा होना नही चाहता……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…