Khushboo Shayari – सिर्फ खुशबू रही गुलाब नहीं

सिर्फ खुशबू रही, गुलाब नहीं |
तेरी यादों का भी जवाब नहीं ||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…