Kismat Shayari – खुदा ने जानबुझ के नहीं

खुदा ने जानबुझ के नहीं लिखा उसे मेरी किस्मत में….
के सारे जहाँ की खुशियाँ एक ही शख्स को कैसे दे दूँ…!!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…