Kiss Shayari – बोसा जो तलब मैं ने

बोसा जो तलब मैं ने किया हँस के वो बोले
ये हुस्न की दौलत है लुटाई नहीं जाती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…