Maa Shayari – माँ की यादों का इक

माँ की यादों का इक बटुआ रखता हूँ,,,
रोज थोड़े थोड़े अश्कों संग खर्च करता हूँ….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…