Maa Shayari – मैं रात भर जन्नत की सैर

मैं रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों,
सुबह आँख खुली तो सर माँ के कदमों में था…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…