Majboor Shayari – ना चाहते हुवे भी साथ

ना चाहते हुवे भी साथ छोड़ना पड़ा,,
जनाब
मज़बूरी मोहब्बत से ज्यादा ताकतवर होती है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…