Majboor Shayari – वो बदल गयी वक्त की मजबूरियाँ

वो बदल गयी,वक्त की मजबूरियाँ बोलकर..
साफ शब्दों में खुद को,बेवफा न बोली..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…